पतन निवारण

Author: Pt. Shriram Sharma Aacharya

Web ID: 981

`4 Add to cart

Availability: In stock

Condition: New

Brand: AWGP Store

Preface

मनुष्य जीवन की गरिमा को समझा नहीं जा सका तो उसे सबसे बड़ा दुर्भाग्य कहना चाहिए । सृष्टि के समस्त प्राणियों की अपेक्षा मनुष्य को जो मिला है उसे अतुलनीय ही कह सकते हैं । परम प्रभु ने अपने बड़े बेटे को जो उत्तराधिकार सौंपा है, उसका प्रत्येक पक्ष अद्भुत है । सामान्य दृष्टि से तो हम भी पेट और प्रजनन में निरंतर व्यस्त अगणित समस्याओं से उलझे और संकटों के दल-दल में फँसे नगण्य जीवधारी भर हैं । अन्य प्राणी निर्वाह और सुरक्षा भर की समस्याएँ अपने पुरुषार्थ से हल करते और चैन से दिन गुजारते हैं । मनुष्य आंतरिक उलझनों, महत्त्वाकांक्षाओं, मनोविकारों और प्रतिकूल परिस्थितियों से इतना उद्विग्न रहता है कि दिन गुजारने भारी पड़ते हैं । जिंदगी की लाश बड़ी कठिनाई से ही ढोना संभव हो पाता है ।

Table of content

1.पतन निवारण
Author Pt. Shriram Sharma Aacharya
Publication Yug nirman yojana press
Publisher Yug Nirman Yojana Vistar Trust
Page Length 32
Dimensions 9 cm x 12 cm
  • 06:05:PM
  • 15 Nov 2019




Write Your Review



Relative Products