आत्मिक प्रगती के लिए अवलंबन की आवशयकता

Author: pt Shriram sharma acharya

Web ID: 361

`4 Add to cart

Availability: In stock

Condition: New

Brand: AWGP Store

Table of content

• श्रद्धा का आरोपण - गुरु तत्व का वरण
• समर्थ बनना हो, तो समर्थों का आश्रय लें
• इष्ट देव का निर्धारण
• दीक्षा की प्रक्रिया और व्यवस्था
• देने की क्षमता और लेने की पात्रता
• तथ्य समझने के बाद ही गुरुदीक्षा की बात सोचें
• गायत्री उपासना का संक्षिप्त विधान

Author pt Shriram sharma acharya
Edition 2011
Publication yug nirman yojana press
Publisher Yug Nirman Yojana Vistara Trust
Page Length 32
Dimensions 12 cm x 18 cm
  • 02:12:AM
  • 20 Jul 2019




Write Your Review



Relative Products