स्वस्थ रहने के सरल उपाय

Author: Brahmavarchasva

Web ID: 132

`8 Add to cart

Availability: In stock

Condition: New

Brand: AWGP Store

Preface

हम खाना क्यों खाते है?

जब से हम जन्म लेते हैं शरीर को शक्ति की आवश्यकता होती है ।। शक्ति के दो प्रमुख स्रोत हैं- १ .नींद २. भोजन

नींद तो अनिवार्यत: सब को लेनी ही पड़ती है ।। एक दो दिन भी कम हो गई तो शरीर हाथ के हाथ उसको पूरा करने को मजबुर होता है ।।

भोजन हम दो कारणों से करते हैं- १. शक्ति के लिये २. स्वाद के लिये

आरम्भ से ही शक्ति और स्वाद में कुश्ती चलती है और देखा यह गया है कि इस कुश्ती में स्वाद जीतता है और शक्ति पीछे रह जाती है ।। कई चीजें तो हम -केवल इसीलिये खा- पी लेते हैं कि वे स्वादिष्ट लगती हैं चाहे उनमें शक्ति है या नहीं या चाहे वे अंतत: नुकसान ही करें ।
कहने को तो कहते हैं कि ' हम जीने के लिये खाते हैं ' पर वस्तुत: यह पाया जाता है कि ' हम खाने के लिये जीते हैं '।

हम खाना पका कर क्यों खाते हैं?
यों तो हम कहते हैं कि खाने की वस्तुओं में कई कीड़े इत्यादि रहने हैं अत: हम पकाकर खाते हैं, पर मुख्यत: स्वाद के लिए ही पकाकर खाते हैं ।। यद्यपि हम जानते हैं कि पकाने से भोजन की पौष्टिकता निश्चित रूप से कम हो जाती है, फिर भी स्वाद व सुविधा के लिए हम पका कर ही खाना खाते हैं ।।

Table of content

१. हम खाना क्यों खाते हैं
२. स्वस्थ रहने के सरल उपाय
३. दस अनमोल नियम
४. स्वस्थ रहना हो तो खाना पकाने के ढ़र्रे को बदलें
५. उपवास रोग निवारक भी शक्तिवर्धक भी
६. शरीर के लिए आवश्यक विटामिन व प्रमुख स्रोत
७. शरीर के लिए आवश्यक खनिज लवण
८. प्रकृति का चमत्कार रसाहार
९.भोजन के सम्बन्ध में २४ उपयोगी सूत्र
१०.अपने आप से १९ सवाल पूछिये
११.आहार विहार से स्वास्थ्य सम्वर्धन एवं सुधार
Author Brahmavarchasva
Edition 2015
Publication Shree Vedmata Gayatri Trust(TMD)
Publisher Shri Vedmata Gayatri Trust
Page Length 24
Dimensions 139mmX216mmX2mm
  • 06:54:PM
  • 17 Sep 2019


Reviews of - Swasth Rahne Ke Saral Upay


Gaurav Saini
15/10/2016


book

very good book, tells about our food &health



Write Your Review



Relative Products